साहित्य सिर्जना

छठी मैया अइले अँगानवा

छठ विशेष

प्रकाशित |

आइल कार्तिक के महिनवा
छठी मैया अइले अँगानवा
सब-केहु  लिपे पोते घरवा
कि छठी मैया अइले अँगानवा ।  
|१|
 
आइल कार्तिक के महिनवा
बाबु-माइ जैहे  कलैया वजरिया
किनिहे अरखके समान
कि छठी मैया अइले अँगानवा ।  
|२|
 
आइल कार्तिक के महिनवा
 बिनिहे बाँसके दउरा-सुपुलिया
दोहरी गऊवाके  डोमिनिया
कि छठी-मैया अइले अँगानवा । 
|३|
 
आइल कार्तिक के महिनवा
बेचिहे  हाँडी-ढाकना दुवरिया
 सिस्वा-महेशपुर गऊवाके कोहार
कि छठी मैया अइले  दुवार ।  
|४|
 
आइल कार्तिक के महिनवा
छइलेबा सबके मनमें बहार 
पुजिहे पोखरा, नदि-ताल के घाट
कि छठी माइ करिहे  
सबके जिनगी खुशहाल।
 |५|
 
विनोद शाह
कलैया-२, बारा, नेपाल 
हाल, न्युयोर्क, अमेरिका
अक्टोबर १५, २०२१
 


यो खबर पढेर तपाईलाई कस्तो महसुस भयो ?

प्रतिक्रिया